[फॉर्म] कुसुम योजना| ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

By | May 26, 2018

कुसुम योजना|कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन| किसान ऊर्जा उत्थान सुरक्षा महाभियान योजना|

प्यारे दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं हम आपको इस वेबसाइट पर कारी योजना जानकारी देते हैं आप उन सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें हमेशा आज हम इस आर्टिकल में आपको कुसुम योजना के जानकारी देंगे|कुसुम योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आम बजट मैं इसका शुभारंभ किया है|

किसान ऊर्जा उत्थान सुरक्षा महाभियान योजना  किसानों के लिए  बनाई गई है |इस योजना के अंतर्गत किसान अपनी भूमि पर ऊर्जा यंत्र लगा सकते हैं और सौर ऊर्जा यंत्र लगाने के लिए भारत सरकार की तरफ से किसानों की कुल लागत पर 60% हिस्सा केंद्रीय सरकार द्वारा किसानों को दिया जाएगा|

कुसुम योजना

कुसुम योजना

प्यारे दोस्तों आप जानते हैं भारत एक कृषि प्रधान देश है भारत में फसलों का निर्यात किया जाता है| और भारत में बहुत से ऐसे राज्य हैं जहां पर सूखा पड़ जाता है और सूखा पड़ने की वजह से किसानों की फसलें बर्बाद हो जाती हैं| किसानों ने फसल उगाने के लिए बैंक साहूकारों से लोन लिया होता है| और फसल बर्बाद कारण किसान भाई अपना लोन नहीं दे पाते और मैं बाद में आत्महत्या कर लेते हैं| इस समस्या इतनी बढ़ गई है भारत में हर रोज किसी ना किसी राज्य में किसान भाई आत्महत्या कर रहे हैं|

इस समस्या को रोकने के लिए भारत के मंत्री नरेंद्र मोदी जी को कुसुम योजना योजना को लेकर आए हैं| ताकि भारत के किसान सोलर पंपों का को लगा कर अपने खेतों की सिंचाई कर सकें और उनकी फसल अच्छी हो से सरकार की तरफ से वित्तीय दी जाएगी|किसान ऊर्जा उत्थान सुरक्षा महाभियान योजना के तहत भारतीय किसानों 3 करोड़ सोलर पंप यह जाएंगे ताकि किसानों को सिंचाई करने में सहायता मिल सके| और उन्हें सरकार की तरफ से उनके जीवन स्तर को ऊपर उठाया जा सके इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कुसुम योजना का शुभारंभ किया है|

हमारे इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक से पढ़िए आर्टिकल में आपको कुसुम योजना की विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे| और आपको बताएंगे कि किसान ऊर्जा उत्थान सुरक्षा महाभियान योजना के लिए क्या पात्रता और क्या जरूरी दस्तावेज रखे गए हैं|

कुसुम योजना का उद्देश्य

  • किसान ऊर्जा सुरक्षा व उत्थान महाभियान को कुसुम योजना के तहत 2022 तक देश में तीन करोड़ को बिजली या डीजल सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा|
  • किसानों को कुल लाभ 10फीसद ही से उठाना पड़ेगा जबकि लगभग 45 करोड रुपए का इंतजाम बैंक लोन से किया जाएगा|
  • कुसुम योजना किसानों को दो तरह से फायदा पहुंचाएगी मुफ्त में सिंचाई के लिए बिजली मिलेगी और दूसरा अगर ग्रिड को को भेजते हैं तो उन्हें कीमत भी मिलेगी|

कुसुम योजना का लाभ

  • किसानों को सौर ऊर्जा यंत्र लगाने के लिए सिर्फ 10 प्रतिशत राशि का भुगतान करना होगा|
  • उनकी बिजली की बचत होगी|
  • केंद्रीय सरकार किसानों को सीधे उनके बैंक खातों में सब्सिडी करेगी इससे किसानों को किसी भी मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा|
  • कुसुम योजना किसानों को दो तरह से फायदा पहुंचाएगी मुफ्त में सिंचाई के लिए बिजली मिलेगी और दूसरा अगर ग्रिड को को भेजते हैं तो उन्हें कीमत भी मिलेगी|

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन

  • हम आपको बताना चाहते हैं कि हम योजना की ऑफिशियल वेबसाइट जल्दी ही शुरू कर दी जाएगी|
  • वेबसाइट पर जाकर आप कुसुम योजना का एप्लीकेशन फॉर्म भर सकते हैं|
  • इस प्रकार आप कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन पंजीकरण कर सकते हैं|

दोस्तों कुसुम योजना से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स पर दीजिए प्रश्नों का जवाब हम आपको जरूर देंगे|

22 thoughts on “[फॉर्म] कुसुम योजना| ऑनलाइन आवेदन| एप्लीकेशन फॉर्म

    1. admin Post author

      pradip ji bhut kaam paise lga gya ap ko 10 प्रतिशत राशि का भुगतान करना होगा

      Reply
  1. Lal Babu Singh

    सिंचाई के लिए इस योजना के तहत सोलर पंप लगाना चाहता हूँ.

    Reply
    1. admin Post author

      pramod ji jaise ap mna le ke agar 1lakh rupee lga to ap 10% k 10000 rupee dena hoga

      Reply
  2. Hariramsoni deshnoke

    कुसुम योजना सोलर टैकनोलाजी से भारत का भविष्य तेजी से विकास की राह पर निकल पड़ा जो कि रूपक नही सकता इससे हर आदमी के पास काम ओर धन की कमी नही रह सकती ये कोई पंडित की भविष्यवाणी नही बल्कि सचाई है जो मेहनत करने वाले है जिनहे अपने काम ओर उसके साकार परिणाम मिलेंगे उससे दुनियाभर के वो पंडित जो आपका भविष्य तंत्र विद्या से तय कर रहे थे आज वो गायब ही होजायेगे।सबका साथ सबका विकास मोदी जी सपना सच्चा निकलता नजर आ रहा है।उसी प्रमुख पेड़ के रूप मैं कुसुम योजना जिसे मानव हित मैं सफल बनाए ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *